- Date: 16 Nov, 2018(Friday)
Time:
 logo

61 जत्थेबंदियों के नेताओं ने किया इंकलाब लाने का एलान।

Feb16,2018 | VIPAN GUPTA/KARAN AVTAR | BARNALA

शुक्रवार को बरनाला में तालमेल फ्रंट पंजाब के बैनर तले काला कानून विरोधी महारैली का आयोजन किया गया। जिसमें राज्य की 61 किसान, मजदूर, विद्यार्थी, मुलाजिम तथा इंकलाबी जत्थेबंदियों ने देश में नया इंकलाब लाने का एलान किया है। जिसको लेकर पहुंचे 10 हजार से ज्यादा लोगों के जनसैलाब को संबोधित करते विभिन्न नेताओं ने इकस्वर हो कहा केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा बनाए काले कानून सहन नहीं होंगे। वक्ताओं ने चेतावनी दी कि वर्ष 1947 से पहले शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव ने ब्रिटिश हकूमत द्वारा लाए जा रहे ट्रेड डिस्पयूट और पब्लिक सेफ्टी बिलों के खिलाफ लाहौर असेंबली में बम फेंक विरोध प्रकट किया था। लोकतंत्र विरोधी इन कानूनों को इंकलाब से रोका जाएगा। गौर हो बरनाला में महारैली करने का फैसला अढ़ाई महीने पहले 31 दिसंबर 2017 को जालंधर के देश भक्त यादगार हाल में आयोजित की गई बैठक में लिया गया था। मंच से एलान किया गया कि इसी तरह की महारैली आज जालंधर में आयोजित होगी। अनाज मंडी में आयोजित हुई कानून विरोधी महारैली को संबोधन करते विभिन्न जत्थेबंदियों के नेताओं जोगिंदर सिंह उगराहां, सुखदेव सिंह कोकरीकलां, निर्भय सिंह ढ़ूडीके, रुलदू सिंह मानसा, सुरजीत सिंह फूल, जोरा सिंह नसराली, बिंदर सिंह रोडे, गुरनाम सिंह दाउद, गगन कौर आजाद, जतिंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह रूड़ेके कलां, नरायण दत्त, मनजीत सिंह धनेर, बूटा सिंह बुर्जगिल्ल, राजिंदर सिंह पीएसयू, करमजीत सिंह बीहला, प्रोफेसर जगमोहन सिंह, लखविंदर सिंह कारखाना, रछपाल सिंह आदि ने कहा कि गत अकाली-भाजपा सरकार ने लोगों के विरोध के बावजूद 'पंजाब जनतक एवं निजी जायदाद नुक्सान निषेध कानून' बनाया था, जो पंजाब असेंबली मतदान होने से लागू नहीं हो सका था। जिसका राज्य की कांग्रेस सरकार विरोध करती रही है, लेकिन जैसे ही पंजाब की सत्ता पर कांग्रेस काबिज हुई तो उसी कानून को खुद लागू कर दिया। अब पंजाब की कैप्टन सरकार गैंगस्टरों को काबू करने के नाम पर 'पंजाब कंट्रोल आफ आर्गेनाइजड क्राइम एक्ट (पकोका) नाम का नया कानून ला रही है। वास्तविक्ता यह है कि इस कानून को बेइंसाफी, अत्याचार और तरह तरह की धक्केशाही खिलाफ आवाज उठाने वाले संगठनों को दबाने के लिए प्रयोग किया जाएगा। जो कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा अपनाए जा रहे मकोका कानून की तर्ज पर आधारित है। इस कानून की नोक पर किसी को भी दोषी कहा जा सकता है, उनकी जायदादें ज़ब्त करने, जेल में डालने और भारी जुर्माने करने जैसी घिनौनी कार्रवाई शामिल होंगी। महारैली में शामिल हुई भाकियू एकता (उगराहां), भाकियू एकता (डकौंदा), कीरती किसान यूनिअन, भारतीय किसान यूनियन (क्रांतिकारी), किसान संघर्ष कमेटी पंजाब, आजाद किसान संघर्ष कमेटी, क्रांतिकारी किसान यूनियन पंजाब, लोकतांत्रिक किसान सभा, पंजाब किसान यूनियन, जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी, ग्रामीण मजदूर यूनियन पंजाब, पंजाब खेत मजदूर यूनियन, क्रांतिकारी ग्रामीण मजदूर यूनियन, देहाती मजदूर सभा, ग्रामीण मजदूर यूनियन (मशाल), मजदूर मुक्ति मोर्चा पंजाब, इंडिअन फेडरेशन आफ ट्रेड यूनियन (इफटू), सीटीयू पंजाब, कारखाना मजदूर यूनियन, टेक्स्टाइल हौजरी कीरती यूनियन, थर्मल कांट्रेक्ट वर्करज कोआर्डीनेशन, मजदूर अधिकार संघर्ष अभ्यान, मोल्डर एंड स्टील वर्कर यूनियन, थीन डैम वर्करज यूनियन, लाल झंडा पंजाब भट्टा लेबर यूनियन, नौजवान भारत सभा, शहीद भक्त सिंह नौजवान सभा, नौजवान भारत सभा, नौजवान भारत सभा (अश्वनी घुद्दा), पंजाब स्टूडेंटस यूनियन, पंजाब स्टूडेंटस फेड्रेशन, पंजाब स्टूडेंटस यूनियन (ललकार), डेमोक्रेटिक स्टूडेंटस आर्गेनाइजेशन, इंकलाबी नौजवान विद्यार्थी मंच, पंजाब रोडवेज इंपलाइज यूनियन (आजाद), गवर्नमेंट टीचर्ज यूनियन, पंजाब सुबार्डीनेट सर्विसिज फेड्रेशन, डेमोक्रेटिक मुलाजिम फेड्रेशन, आरसीएफ इंपलाइज यूनियन (कपूरथला), टीएसयू (सेखों), एसएसए/रमसा अध्यापक यूनियन, जल स्पलाई व सेनिटेशन कांट्रेक्ट वर्करज यूनियन पंजाब, पेप्सिको इंडिया होलडिंग वर्कर यूनियन (एटक), ठेका मुलाजिम संघर्ष मोर्चा, ठेका मुलाजिम पावरकॉम एंड ट्रांसको यूनियन पंजाब, जनवादी स्त्री सभा, स्त्री जागृति मंच, पंजाब निर्माण मजदूर यूनियन, आंगणवाड़ी वर्कर यूनियन और टेक्निकल सर्विसिज यूनियन, लोकतांत्रिक अधिकार सभा, देश भक्त यादगार समिति जालंधर, पंजाब लोक सांस्कृतिक मंच, मेडीकल प्रैक्टिशनर्ज एसोसिएशन पंजाब, इन्साफ की आवाज, डीएमएफ, थर्मल कांट्रेक्ट वर्कर कोआर्डीनेशन कमेटी, डीएसओ.पटियाला, अशूल मंच पंजाब, थर्मल टीएसयूू,क्रांतिकारी मजदूर यूनियन, स्त्री मजदूर संगठन, आजाद रंग मंच बरनाला, टीयूसीआई, किसान मोर्चा संगरूर समेत 61 जत्थेबंदियां के वरिष्ठ नेताओं ने संबोधन किया।

61 जत्थेबंदियों के नेताओं ने किया इंकलाब लाने का एलान। 165


61 जत्थेबंदियों के नेताओं ने किया इंकलाब लाने का एलान।
61 जत्थेबंदियों के नेताओं ने किया इंकलाब लाने का ए

Comments


About Us


Jagrati Lahar is an English, Hindi and Punjabi language news paper as well as web portal. Since its launch, Jagrati Lahar has created a niche for itself for true and fast reporting among its readers in India.

Gautam Jalandhari (Editor)

Subscribe Us


Vists Counter

HITS : 5271985

Address


Jagrati Lahar
Jalandhar Bypass Chowk, G T Road (West), Ludhiana - 141008
Mobile: +91 161 5010161 Mobile: +91 81462 00161
Land Line: +91 161 5010161
Email: gautamk05@gmail.com, @: jagratilahar@gmail.com