- Date: 14 Nov, 2018(Wednesday)
Time:
 logo

पराली जलने की घटनाए ही मौजूदा कोहरे के लिए जिम्मेवार : पंजाब रिमोट सेंसिंग सेंटर

पंजाब का मालवा क्षेत्र इस समय सबसे ज्यादा ऐसी स्थिति से प्रभावित

पंजाब का मालवा क्षेत्र इस समय सबसे ज्यादा ऐसी स्थिति से प्रभावित

Nov9,2017 | GAUTAM JALANDHARI | LUDHIANA

पराली जलने की घटनाए ही मौजूदा कोहरे और धुंए वाली बदतर स्थिति के लिए जिम्मेवार है. यह कहना है पंजाब रिमोट सेंसिंग सेंटर के आला अधिकारी डॉ. ब्रिजेन्द्र पटेरिया (डायरेक्टर, पंजाब रिमोट सेंसिंग सेंटर, लुधियाना) का पिछले चार दिनों में 4 नवम्बर वाले दिन सबसे अधिक पराली को आग लगाने की घटनाए देखने को मिली है. पंजाब राज्य का मालवा क्षेत्र इस खतरनाक स्थिति से सबसे ज्यादा जूझ रहा है. ..पुरे उत्तर भारत में इन दिनों कोहरे और धुंए की स्थिति बद से बदतर होती चली जा रही है. सुबह और शाम को हालत यह हो जाती है कि महज कुछ फुट की दूरी के पार ही देखना मोहाल हो जाता है. पंजाब रिमोट सेंसिंग सेंटर के आला अधिकारियों का कहना है कि इस स्थिति के लिए मुख्या रूप से किसान ही जिम्मेवार है. किसानों द्वारा लगातार जलाई जा रही पराली ही इसका कारण बन रही है. पराली को आग के हवाले करने से धुआं खतरनाक ढंग से ज़मीन से उठता है और फिर वही धुआं कारण बन जाता है ऐसी पेचीदा स्थिति का. आंकड़े बताते हैं के अकेले चार नवम्बर वाले दिन ही 4446 पराली जलाने की घटनाएँ देखीं गई जबकि 8 नवम्बर को 2109 घटनाओं को अंजाम दिया गया. पंजाब का मालवा क्षेत्र इस समय सबसे ज्यादा ऐसी स्थिति से प्रभावित है. V/O.....ऐसी स्थिति सांस की तकलीफ वाले मरीज़ों के लिए बेहद खतरनाक है और साथ ही साथ सड़क पर सफ़र करने वाले लोगों के लिए भी बेहद जोखित भरी है. इस स्थिति से निजात पाने के लिए सब को ही बारिश का इंतज़ार है. हालाँकि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष पराली को जलने की घटनाए कम सामने आ रही हैं क्योंकि पिछला वर्ष पंजाब में एक चुनावी वर्ष था और सरकार किसानों के प्रति अपना एक नर्म रवैया अपनाए हुए थी. आंकड़े बताते हैं के 27 सितम्बर 2016 से लेकर 8 नवम्बर 2016 तक पराली को जलाने की 66969 घटनाए घटित हुई थी जबकि 27 सितम्बर 2017 से लेकर 8 नवम्बर 2017 तक कुल 39886 घटनाए सामने आ चुकी हैं और इसी ने सबका जीवन अस्त व्यस्त कर रखा है.

FOG , PEDDY, FIRE, MALWA, PUNJAB REMOTE SENSING CENTER 165


FOG , PEDDY, FIRE, MALWA, PUNJAB REMOTE SENSING CENTER
पराली जलने की घटनाए ही मौजूदा कोहरे के लिए जिम्मेव

Comments


About Us


Jagrati Lahar is an English, Hindi and Punjabi language news paper as well as web portal. Since its launch, Jagrati Lahar has created a niche for itself for true and fast reporting among its readers in India.

Gautam Jalandhari (Editor)

Subscribe Us


Vists Counter

HITS : 5266376

Address


Jagrati Lahar
Jalandhar Bypass Chowk, G T Road (West), Ludhiana - 141008
Mobile: +91 161 5010161 Mobile: +91 81462 00161
Land Line: +91 161 5010161
Email: gautamk05@gmail.com, @: jagratilahar@gmail.com